आग की तेज लपटों में एक परिवार के चार लोग झुलसे इलाज के दौरान मासूम बच्ची की मौत

चरवा थाना क्षेत्र के बलीपुर टाटा गांव में लकड़ी के चूल्हे से खाना बनाते समय अचानक खपरैला में लगी भीषण आग

आग की तेज लपटों में एक परिवार के चार लोग झुलसे इलाज के दौरान मासूम बच्ची की मौत

कौशांबी (उत्तरप्रदेश/ शशि जायसवाल/ गणेश साहू) तहसील चायल के चरवा थाना अंतर्गत ग्राम सभा बलीपुर टाटा गांव में बीती रात लकड़ी के चूल्हा से खाना बनाते समय एक दलित परिवार के घर में अचानक भीषण आग लग गई है आग लग जाने से दो महिलाएं दो बच्चियों समेत कुल चार लोग गम्भीर झुलस गए आनन-फानन में स्थानीय पुलिस व डायल 112 को ग्रामीणों ने सूचना दिया पुलिस ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया झुलसे हुए लोगों को रात में ही 108 एंबुलेंस की मदद से पुलिस वालों ने इलाज के लिए जिला अस्पताल भिजवाया बताया जाता है कि इलाज के दौरान एक बच्ची की मौत हो गई है अग्निकांड की घटना में गृहस्वामी का पूरा घर जलकर खाक हो गया है घर में रखा कपड़ा बर्तन बिस्तर चारपाई सिलाई मशीन आनाज पूरी तरह से जल गया है घर में पशुओं के लिए रक्खा भूसा लकड़ी उपला भी जलकर राख हो गया है आग की तेज लपटों से घर भी पूरी तरह से जलकर क्षतिग्रस्त हो गया है अनुमान लगाया जाता है कि इस घटना में लाखों रुपया की गृहस्थी जलकर खाक हो गई है।

घटनाक्रम के मुताबिक चरवा थाना क्षेत्र के बलीपुर टाटा गांव निवासी धर्मेंद्र कुमार की पत्नी नूमा देवी सोमवार की रात लकड़ी के चूल्हे में खाना बना रही थी इसी बीच अचानक चूल्हे की आग ने विकराल रूप धारण कर लिया और खपरेला में आग लग गई देखते देखते आग ने पूरे घर को अपने आगोश में ले लिया तेज लपटों के साथ पूरा घर जलने लगा घर के लोग बाहर नहीं निकल सके और आग की लपट से झुलस कर गिर गए इस अग्निकांड में धर्मेंद्र कुमार की पत्नी नूमा देवी उम्र 26 वर्ष उनकी बेटी अनुष्का 2 वर्ष और बेटी अनुराधा 1 वर्ष उनकी माता संतरा देवी उम्र 55 वर्ष पत्नी शिव लाल आग की लपटों के चपेट में आ गए हादसे में 2 बच्चियों समेत दो महिलाएं गंभीर रूप से झुलस गयी आग का भयानक रूप देखकर आसपास के लोगों ने मामले की सूचना स्थानीय पुलिस और फायर ब्रिगेड को दिया मौके पर पहुंची पुलिस ने अग्निकांड में झूलसी दोनों महिलाएं और दोनों बच्चियों को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका है इलाज के दौरान दो वर्षीय बेटी अनुष्का की मौत हो गई बेटी अनुराधा पत्नी नूमा देवी और माता संतरा देवी गंभीर रूप से झुलसे है झुलसे लोगो का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।

अग्निकांड की घटना की जानकारी मिलते ही तहसीलदार चायल और राजस्व निरीक्षक मौके पर पहुंचकर हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया तहसीलदार चायल ने तत्काल फोन के द्वारा कोटेदार से राशन पहुंचाने के लिए भी निर्देश दिया है ग्रामीणों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया है तब तक गृह स्वामी की पूरी गृहस्थी जलकर खाक हो गई है

बुलंद आवाज के साथ निष्पक्ष व निर्भीक खबरे... आपको न्याय दिलाने के लिए आपकी आवाज बनेगी कलम की धार... ★ हमारे सच लिखने का जज्बा कोई तोड़ नहीं सकता ★ क्योंकि यहां ना जेक चलता ना ही चेक और खबर रुकवाने के लिए ना रिश्तेदार फोन कर सकते औऱ ना ही ओर.... ★ ईमानदार ना रुका ना झुका ★ क्योंकि सच आज भी जिंदा है और ईमानदार अधिकारी आज भी हमारे भारत देश में कार्य कर रहे हैं जिनकी वजह से हमारे भारतीय नागरिक सुरक्षित है