अम्बेडकर मानव कल्याण संस्थान मतलब सच्ची मानव सेवा

अम्बेडकर मानव कल्याण संस्थान मतलब सच्ची मानव सेवा

नीमकाथाना (सीकर, राजस्थान/ सुमेरसिंह राव) रीट की परीक्षा देने हेतु करीब 10000 परीक्षार्थी बाहर से आये। इनमे उत्तर प्रदेश, पंजाब व हरियाणा राज्य के भी परीक्षार्थी शामिल थे। प्रशासन के साथ साथ करीब 15 सामाजिक संगठनों द्वारा भी परीक्षार्थियों के आवास व भोजन की निःशुल्क व्यवस्था की गई। परन्तु सबसे बड़े स्तर पर यह व्यवस्था डॉ भीम राव अम्बेडकर मानव कल्याण संस्थान द्वारा की गई। अम्बेडकर छात्रावास में करीब 300 परीक्षार्थियों के रहने व खाने की इस शानदार व्यवस्था में सबसे बड़ा व्यक्तिगत योगदान संस्थान के शिक्षा सचिव कैलाश वर्मा का रहा, जिन्होंने उक्त सभी परीक्षार्थियों के लिए भोजन व आवास की सम्पूर्ण व्यवस्थाओ का वहन निजी रूप से किया। परीक्षार्थियों को भोजन में सब्जी पूड़ी के साथ साथ खीर भी खिलाई गई। नीमकाथाना में रीट की महिला परीक्षार्थी व परिजनों के लिए भोजन, आवास, परीक्षा केन्द्रो व बस स्टेण्ड से लाने-ले जाने की निःशुल्क व्यवस्था मेघवंश जागृति संस्थान द्वारा की गई। संस्थान द्वारा यह व्यवस्था शहर के भेभाराम नगर स्थित संस्थान कार्यालय, न्यू सन साइन एकेडमी एवं श्री पंकज मेहरानिया के निजी आवास पर की गई, जिसमे 50 महिला परीक्षार्थी एवं 50 परिजनों ने उक्त सुविधाओं का लाभ उठाया। इस दौरान सभी परीक्षार्थी व परिजनों को मास्क वितरण कर कोरोना महामारी के प्रति जागरूकता का सन्देश भी दिया गया। संस्थान द्वारा की गई बेहतरीन व्यवस्थाओ के लिए प्रशासन, परीक्षार्थी व परिजनों ने प्रशंसा कर दिल से धन्यवाद दिया। मेघवंश संस्थान के अध्यक्ष डॉ रणजीत मेहरानिया बताया कि गत वर्ष सम्पन्न हुई पुलिस भर्ती परीक्षा के दौरान सर्व समाज के करीब 150 महिला व पुरुष परीक्षार्थियों के लिए निःशुल्क भोजन व आवास की व्यवस्था कर मानव सेवा के इस मुहिम की शुरुवात की गई थी।