भारत तिब्बत संवाद मंच के पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति प्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

भारत तिब्बत संवाद मंच के पदाधिकारियों ने राष्ट्रपति प्रधानमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

चित्तौड़गढ़ (राजस्थान/ बृजेश शर्मा) भारत तिब्बत संवाद मंच के प्रदेश अध्यक्ष भारती वैष्णव, के निर्देशानुसार लद्दाख और अरुणाचल में चीन लगातार भारत को उकसाने वाली हरकतें करने से बाज नहीं आ रहा है चित्तौड़ जिला महिला अध्यक्ष गायत्री उपाध्याय, ने कहा कि चीन का अरुणाचल के बड़े हिस्सो पर अपना दावा जताना कोई नई बात नहीं वह पहले भी हमारे नेताओं की अरुणाचल यात्रा पर कई बार विरोध कर चुका है भारत ने उसके दावे और आपत्तियों को यही कह कर खारिज किया है अरुणाचल भारत का अविभाज्य अंग है देश का कोई भी नेता उस राज्य की यात्रा करने के लिए स्वतंत्र है जिलाध्यक्ष राजू अग्रवाल शंभूपुरा ने बताया कि इसी महीने की शुरुआत में ही चीनी सैनिकों ने अरुणाचल प्रदेश में घुसपैठ की कोशिश की थी लेकिन भारतीय सैनिकों ने 200 के लगभग चीनी सैनिकों को खदेड़ दिया था 
वर्ष 2009 में मनमोहन सिंह ने प्रधानमंत्री रहते हुए अरुणाचल प्रदेश का दौरा किया था तो चीन ने इस पर आपत्ति की थी फिर वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब राज्य के दौरे पर गए थे तब भी चीन को मिर्ची लगी थी दोनों देशों के बीच विवाद की सबसे बड़ी समस्याएं मैकमोहन रेखा का स्पष्ट रूप से मौजूद ना होना और चीन इसी का फायदा उठाते हुए अपना दावा ठोकता रहता है अतिरिक्त जिला कलेक्टर रतन कुमार स्वामी जी को ज्ञापन प्रदेश अध्यक्ष भारती वैष्णव, प्रांत सचिव मोतीलाल तिवारी ,मदन लाल सुथार, शंकरलालसेन चित्तौड़ प्रांत अध्यक्ष यशोदादेवी टेलर, महिला अध्यक्ष गायत्री देवी उपाध्याय ,राजू अग्रवाल शंभूपुरा , मीडिया प्रभारी सरस्वती शर्मा ,सुनैनादेवी लोहार, रतन लाल गुर्जर ,दिनेश लोहार, भूरालाल डांगी, मुकेशचाहर, मंच के कई कार्यकर्ताओं ने ज्ञापन सौंपकर चाइनीस आइटम का विरोध भी किया